Breathtaking Sinhagarh! :D

Hola!! Today, the bug of posting something new bit me. I’ve only been posting poems, stories and the award nominations I get. This would be the first post about a travel experience, kind of like a diary entry. Without further ado let me tell you about my amazing experience to this astounding place, Sinhagad in …

Continue reading Breathtaking Sinhagarh! 😀

Advertisements

For Dad,..

पापा, पहले पैरों, फिर दो पहियों से, चलना और आगे बढ़ना सिखाया है आपने। रास्ता चाहे जैसा भी हो, मैं मंज़िल को पाउँगी ऐसा हौसला जगाया है आपने। चाहे मुठ्ठी में आसमाँ हो, सितारों का जहाँ हो, अपनी जड़ों से जुड़े रहना सिखाया है आपने। हर चीज़ की अहमियत के बारे में, एक पाठ पढ़ाया …

Continue reading For Dad,..